2010

गीत: यह रातें नयी पुरानी | Ye ratein nayi purani
चित्रपट: जूली (1975) | Julie
संगीत: राजेश रोशन | Rajesh Roshan
गीतकार: आनन्द बक्षी | Anand Bakshi
स्वर: लता मंगेश्कर | Lata Mangeshkar

वीडियो गीत:



गीत के बोल:
यह रातें नयी पुरानी, यह रातें नयी पुरानी
आते, आते जाते कहती हैं कोई कहानी
यह रातें नयी पुरानी, यह रातें नयी पुरानी
आते, आते जाते कहती हैं कोई कहानी
यह रातें...

आ रहा है देखो कोई, जा रहा है देखो कोई
सबके दिल हैं जागे-जागे, सबकी आँखें खोयी-खोयी
ख़ामोशी करती है बातें, यह रातें नयी पुरानी
आते, आते जाते कहती हैं कोई कहानी
यह रातें...

क्या समा है जैसे ख़ुशबू उड़ रही हो कलियों से
गुज़री हो निदिया में पलकों की गलियों से
सुन्दर सपनों की बारातें, यह रातें नयी पुरानी
आते, आते जाते कहती हैं कोई कहानी
यह रातें...

कौन जाने कब चलेंगी किस तरफ़ से ये हवाएँ
साल भर तो याद रखना ऐसा न हो भूल जायें
इस रात की मुलाक़ातें, यह रातें नयी पुरानी
आते, आते जाते कहती हैं कोई कहानी
यह रातें..., नयी पुरानी...,
आते, आते जाते कहती हैं कोई कहानी

आज पेश है यह दिलरुबा गीत 'ये शाम मस्तानी', जो आप सभी को और मुझको खासा पसंद है। आइए इसे गुनगुनाएँ!


गीत: ये शाम मस्तानी | Ye sham mastani
फ़िल्म: कटी पतंग (1970) | Kati Patang 1970
संगीतकार: राहुल देव बर्मन | R D Burman
स्वर: किशोर कुमार | Kishor Kumar

विडियो गीत:

Yeh Shaam Mastani - Kati Patang (1970) from Vinay Prajapati on Vimeo. आडियो गीत:
यह शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये
मुझे डोर कोई खींचे, तेरी ओर लिये जाये [x2]

दूर रहती है तू, मेरे पास आती नहीं
होंठों पे तेरे, कभी प्यास आती नहीं
ऐसा लगे, जैसे कि तू, हँस के ज़हर कोई पिये जाये

यह शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये
मुझे डोर कोई खींचे, तेरी ओर लिये जाये

बात मैं जब करूँ, मुझे रोक लेती है क्यों
तेरी मीठी नज़र, मुझे टोक देती है क्योँ
तेरी हया, तेरी शरम, तेरी क़सम मेरे होंठ सिंये जाये

यह शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये
मुझे डोर कोई खींचे, तेरी ओर लिये जाये

एक रूठी हुई, तक़दीर जैसे कोई
ख़ामोश ऐसे है तू, तस्वीर जैसे कोई
तेरी नज़र, बनके ज़ुबाँ, लेकिन तेरे पैग़ाम दिये जाये

यह शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये
मुझे डोर कोई खींचे, तेरी ओर लिये जाये
8

गीत: मेरे पिया मैंने जिसे ये दिल दिया । Mere Piya Maine Jise Ye Dil Diya
चित्रपट: तेरे मेरे सपने (1996) | Tere Mere Sapne
संगीत: विजू शाह | Viju Shah
गीतकार: आनन्द बक्षी | Anand Bakshi
कलाकार: प्रिया गिल, चंद्रचूड़ सिंह | Priya Gill, Chandrachurna Singh
स्वर: उदित नारायण, साधना सरगम और साथी | Sadhana Sargam, Udit Narayan & Chorus

विडियो गीत:



आडियो गीत:
गीत के बोल:
मेरे पिया, ओ मेरे पिया, मैंने जिसे यह दिल दिया
मेरे पिया, मैंने जिसे यह दिल दिया
तू वो नहीं है, मुझको यक़ीं है,
हाँ, वो मेरा आशिक़ दिवाना कोई और है

मेरे पिया, ओ मेरे पिया, मैंने जिसे यह दिल दिया...

ओ मुफ़लिस है वो, तो क्या हुआ
मुफ़लिस है वो, तो क्या हुआ
तेरी तरह मगर नहीं वो बेवफ़ा
मासूम ऐसा, बस मेरे जैसा...
हाँ वो मेरा आशिक़ दिवाना कोई और है

मेरे पिया, ओ मेरे पिया, मैंने जिसे यह दिल दिया...

ओ तू जो कहे, कर जाऊँ मैं
तू जो कहे, कर जाऊँ मैं
तेरी क़सम अभी यहीं मर जाऊँ मैं
मुझे छोड़ने का, यह दिल तोड़ने का
हाँ, क्या पास तेरे बहाना कोई है

मेरे सनम, ओ मेरे सनम, मैंने तुझे यह दिल दिया
भर आये नैना, फिर यह न कहना
कि वह तेरा आशिक़ दिवाना कोई और है...

आइए इस सदाबहार गीत को सुनकर अपना चित्त प्रसन्न करें, यह वह गीत है, जिसकी धुन और बोल मेरी ज़ुबाँ से कभी बिसरे ही नहीं, सोचा आपका भी यही ख़्याल होगा, सो पेश कर रहा हूँ।

Aa gale lag ja 1973

गीत: तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई | Tera mujhse hai pahle ka nata koi
चित्रपट: आ गले लग जा (१९७३) | Aa gale lag ja 1973
संगीत: राहुल देव बर्मन | R D Burman
गीतकार: आनंद बक्षी | Anand Bakshi
स्वर: किशोर कुमार | Kishore Kumar

संस्करण १:

Tera Mujhse Hai Pahle Ka Nata Koi (1) - Aa Gale Lag Ja (1973) from Vinay Prajapati on Vimeo.

संस्करण २:

Tera Mujhse Hai Pahle Ka Nata Koi - Aa Gale Lag Ja (1973) from Vinay Prajapati on Vimeo.

आडियो गीत: गीत के बोल: तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...
तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...

जाने तू... या जाने ना...
माने तू... या माने ना...

तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...
तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...

धुँआ-धुँआ था वो समाँ
यहाँ वहाँ जाने कहाँ...
धुँआ-धुँआ था वो समाँ
यहाँ वहाँ जाने कहाँ...
तू और मैं कहीं मिले थे पहले
देखा तुझे तो दिल ने कहा

जाने तू... या जाने ना...
ओ माने तू... या माने ना...

तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...
तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...

जाने तू... या जाने ना...
माने तू... या माने ना...

तू भी रही मेरे लिए
मैं भी रहा तेरे लिए...
तू भी रही मेरे लिए
मैं भी रहा तेरे लिए...
पहले भी मैं तुझको बाँहों में लेके
झूमा किया और झूमा किया...

तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...
तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...

जाने तू... या जाने ना...
माने तू... या माने ना...

देखो अभी खोना नहीं
कभी जुदा होना नहीं...
देखो अभी खोना नहीं
कभी जुदा होना नहीं...
अबके यूँ ही मिले रहेंगे दोनों
वादा रहा ये इस शाम का

जाने तू... या जाने ना...
माने तू... या माने ना...

तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...
तेरा मुझसे है पहले का नाता कोई
यूँ ही नहीं दिल लुभाता कोई...

जाने तू... या जाने ना
माने तू... या माने ना...

वादे गये बातें गयीं
जागी जागी रातें गयीं
चाहा जिसे मिला नहीं
तो भी हमें गिला नहीं
अपना है क्या जियें मरें चाहे कुछ हो
तुझको तो जीना रास आ गया

जाने तू... या जाने ना
माने तू... या माने ना...
9

सर्वप्रथम आप सभी को इस गीत के साथ को होली की हार्दिक शुभकामनाएँ।

गीत: नीला पीला हरा गुलाबी । Neela Peela Hara Gulabi
फ़िल्म: आप बीती (1976) | Aap Baeti
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल | Laxmi-Pyare
कलाकार: शशि कपूर, हेमा मालिनी और अशोक कुमार
स्वर: लता मंगेश्कर, महेन्द्र कपूर और मन्ना डे



गीत के बोल:
नीला-पीला हरा-गुलाबी कच्चा-पक्का रंग
रंग डाला आ, मेरा अंग-अंग
राम दुहाई, राम दुहाई छोड़ कलाई
ओए मामा
ओ मेरे मामा क्या बाजू मेरा तोड़ेगा

ओ सररारारर...
आगे-पीछे आगे-पीछे ऊपर-नीचे
कोई कितना दौड़ेगा
बहादुर नहीं छोड़ेगा, बहादुर नहीं छोड़ेगा
बहादुर नहीं छोड़ेगा, बहादुर नहीं छोड़ेगा

ओ नीला-पीला हरा-गुलाबी कच्चा-पक्का रंग
रंग डाला रे मेरा अंग-अंग

अरे छेड़छाड़ मत करना करके होली का बहाना
छेड़छाड़ मत करना करके होली का बहाना
आज का दिन है प्यार का दिन
कोई मार न मुझसे खाना
कुर्ता ढील तंग पैजामा गुस्सा रहने दे रे मामा
हाथ मिला ले प्रेम की रेखा
तुमने दुनिया में क्या देखा

अरे तुमने देखे प्रेम के नाटक
ओ ओ तुमने देखे प्रेम के नाटक
हमने देखी जंग
रंग डाला आ, मेरा अंग-अंग

नीला-पीला हरा-गुलाबी कच्चा-पक्का रंग
रंग डाला रे मेरा अंग-अंग

रंग वाले से रंग करवाओ
अरे रंग वाले से रंग करवाओ
तो वो माँगे पैसे
मुफ़्त में हमने रंग डाले हैं मुखड़े कैसे कैसे
दर्पन देखो तो दीवानी
अरे सूरत न जाये पहचानी
तू कोई बदमाश है पक्का
मारा मुझको ज़ोर से धक्का
मैं गिर पड़ी ज़मीं पे जैसे
ओ मैं गिर पड़ी ज़मीं पे जैसे
कट के गिरे पतंग
रंग डाला, मेरा अंग-अंग

राम दुहाई, छोड़ कलाई
बेदर्दी क्या बाजू मेरा तोड़ेगा

ओ सररारारर...
आगे-पीछे आगे-पीछे ऊपर-नीचे
कोई कितना दौड़ेगा
बहादुर नहीं छोड़ेगा, बहादुर नहीं छोड़ेगा
बहादुर नहीं छोड़ेगा, बहादुर नहीं छोड़ेगा

Editor

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget