मेरे नसीब में तू है कि नहीं - नसीब (१९८१)

आज जो गीत आप सुनेंगे वह फ़िल्म नसीब से है, यह स्वर साम्राज्ञी लता मंगेश्कर द्वारा गाया गया एक अकेला डिस्को (Disco) गीत है। आइए इसका लुत्फ़ उठाएँ।



गीतकार : आनंद बक्षी | Anand Bakshi
गायक : लता मंगेशकर | Lata Manageshkar
संगीतकार : लक्ष्मीकांत प्यारेलाल | Laxmikant Pyarelal
चित्रपट : नसीब (1981) | Naseeb
कलाकार : हेमा मालिनी । Hema Malini

गीत के बोल :

मेरे नसीब में तो है कि नहीं +
तेरे नसीब में मैं हूँ कि नहीं (x2)
यह हम क्या जाने, यह वही जाने,
जिसने लिखा है सब का नसीब...

मेरे नसीब में तो है कि नहीं +
तेरे नसीब में मैं हूँ कि नहीं (x2)

इक दिन ख्वाब में वो मुझे मिल गया(x2)
देखकर जो मुझे फूल सा खिल गया
शरमा गयी मैं हय-हय, घबरा गयी मैं हय-हय(x2)
शरमा गयी मैं, घबरा गयी मैं
कहने लगा वो आकर क़रीब

मेरे नसीब में तो है कि नहीं +
तेरे नसीब में मैं हूँ कि नहीं (x2)

बात यह ख़्वाब की सच मगर हो गयी(x2)
नौजवान मैं तुझे देखकर हो गयी
आँखें मिलीं हैं हय-हय, दिल भी मिले हय-हय(x2)
आँखें मिलीं हैं दिल भी मिले हैं
देखे मिलें कब अपने नसीब

मेरे नसीब में तो है कि नहीं +
तेरे नसीब में मैं हूँ कि नहीं (x2)

हम कहीं फिर मिलें, इक हसीं रात में(x2)
बात यह आ गयी, फिर किसी बात में
अब के हुआ यह हय-हय, मैंने कहा यह हय-हय(x2)
अब के हुआ यह, मैंने कहा यह
मुझको बता दे मेरे हबीब

मेरे नसीब में तो है कि नहीं +
तेरे नसीब में मैं हूँ कि नहीं (x2)
यह हम क्या जाने, यह वही जाने,
जिसने लिखा है सब का नसीब

मेरे नसीब में तो है कि नहीं +
तेरे नसीब में मैं हूँ कि नहीं (x4)

Post a Comment

"oh one of my favt song........thanks"

regards

इन गीतकारों की कल्पना भी तो गजब की होती है --- पता नहीं ये लोग कहां पर बैठ कर इस तरह की कालजयी रचनाओं की रचना करते हैं।
आपकी पोस्ट बढ़िया लगी।
नववर्ष की ढ़ेरों शुभकामनायें।

बहुत सुण्दर, लेकिन आप का टिपण्णी वाला खानाअ मुझे दिख नही रहा, तुक्के से ही टिपण्णी दे रहा हुं,कृप्या इसे ठीक करे, यह राईट साईड मै बहुत ज्याग्दा है.
धन्यवाद

शुक्रिया साहेबाँ आप सभी का!

आनन्‍द बक्षी के गीतों में जो बात है, वह कहीं और नहीं। उन मधुर गीतों की याद दिलाने का शुक्रिया।

आनन्‍द बक्षी के गीतों में जो बात है, वह कहीं और नहीं। उन मधुर गीतों की याद दिलाने का शुक्रिया।

ज़ाकिर साहब बिल्कुल सही फ़रमा रहे हैं, और भी लाजवाब नग़मे हैं जो आगे सुनियेगा! आप आनन्द बक्षी फ़ैन लिस्ट में क्यों नहीं आते! हौसला बढ़ेगा यह सिलसिला ज़ारी रखने का!

[disqus][blogger]

Editor

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget