आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम - देवर १९६६

Devar 1966
गीत: आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम । Aaya Hai Mujhe Phir Yaad Wo Zalim
चित्रपट: देवर १९६६ | Devar 1966
संगीत: रोशन । Roshan
गीतकार: आनंद बक्षी | Anand Bakshi
स्वर: मुकेश । Mukesh



गीत के बोल:

आया है मुझे फिर याद वो ज़ालिम
गुज़रा ज़माना बचपन का
हाए रे अकेले छोड़ के जाना
और ना आना बचपन का

वो खेल, वो साथी, वो झूले
वो दौड़ के कहना, आ छू ले
हम आज तलक भी ना भूले वो
ख्वाब सुहाना बचपन का

इस की सब को पहचान नहीं
ये दो दिन का मेहमान नहीं
मुश्किल है बहोत आसान नहीं ये
प्यार भूलाना बचपन का

मिलकर रोयें, फ़रियाद करें
उन बीते दिनों की याद करें
ऐ काश कहीं, मिल जाये कोई जो
मीत पुराना बचपन का

Roman Hindi Lyrics:

aayaa hai mujhe phir yaad wo zaalim
gujraa zamaanaa bachapan kaa
haae re akele chhod ke jaanaa
aur naa aanaa bachapan kaa

wo khel, wo saathee, wo jhoole
wo daud ke kahanaa, aa chhoo le
ham aaj talak bhee naa bhoole wo
khwaab suhaanaa bachapan kaa

is kee sab ko pahachaan naheen
ye do din kaa mehamaan naheen
mushkil hai bahot aasaan naheen ye
pyaar bhoolaanaa bachapan kaa

milakar royen, fariyaad karen
un beete dinon kee yaad karen
ai kaash kaheen, mil jaaye koi jo
meet puraanaa bachapan kaa

Post a Comment

[disqus][blogger]

Editor

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget