ख़ाली दिल नहीं ये जाँ वी है मंगदा - कच्चे धागे (१९९८)

Kachche Dhaage - Khali Dil Nahi Jan Vi Hai Mangda


इश्क़ है पानी का इक क़तरा
क़तरे में तूफ़ान
एक हाथ में अपना दिल रख ले
एक हाथ में रख ले जान

ख़ाली दिल नहीं ये जाँ वी है मंगदा
ख़ाली दिल नहीं ये जाँ वी है मंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा

ख़ाली दिल नहीं जाँ भी है मंगदा
ख़ाली दिल नहीं जाँ भी है मंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा...

जोगियों के पीछे जैसे जोग लग जाता है,
प्रेमियों को प्रेम वाला रोग लग जाता है
लाख बचायें दामन लोग लग जाता है,
दिल पे आशिकों के निशान इस रंगदा

इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा,
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा...

दुश्मन है दिल का ऐसा मन का यह मीत है
जग से निराली इस खेल की रीत है
जीत में हार है, हार में जीत है
इश्क़ इश्क़ है, मैदान नहीं जंग दा

इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा...

नाम है दीवाना दूजा न नाम कोई,
प्यार के जैसा बदनाम नहीं कोई
इश्क़ से बड़ा इल्ज़ाम नहीं कोई,
इश्क़ आशिकानूँ सूलियों उते टंगदा

इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा,
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा...

ख़ाली दिल नहीं जाँ भी है मंगदा
ख़ाली दिल नहीं जाँ भी है मंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा
इश्क़ की गली विच कोई-कोई लंगदा

गीत: ख़ाली दिल नहीं जाँ वी है मंदगा | Khali Dil Nahin Jaan Vi Hai Mangda
फ़िल्म: कच्चे धागे (1998) | Kachche Dhaage
संगीतकार: नुसरत फ़तेह अली ख़ान | Nusarat Fateh Ali Khan
स्वर: अल्का याग्निक, हंस राज हंस और साथी | Alka Yagnik, Hans Raj Has & Chorus

[next]

4 comments:

  1. बहुत ही ख़ूबसूरत गीत है

    ReplyDelete
  2. मेरे पसंदीदा गीतों में एक है, शुक्रिया...

    ReplyDelete
  3. bahut dino baad yah geet suna, shukriya

    ReplyDelete