छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके - मैं तुलसी तेरे आँगन की (१९७८)

वेलेटाईन डे आ रहा है कोई न कोई कुछ न कुछ कर रहा है। कुछ विरोध कर रहे हैं और कुछ पक्ष में बोल रहे हैं। लेकिन प्यार में पड़ने वालों पर इस बात का कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता।, क्योंकि प्यार ऐसी ही चीज़ है। सदैव याद रखें प्यार प्यार ही है वह आपको चाहे जिस रूप में मिले। प्यार के दिन पर विशेष गीत, इस गीत की तारीफ़ करना यानी सूरज को दिया दिखाने जैसी बात है।



गीत: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके । Chhap Tilak Sab Chhini Re Mose Naina Milaike
स्वर: आशा भोंसले, लता | Asha Bhonsle, Lata Mangeshkar
गीतकार: आनन्द बक्षी | Anand Bakshi
फ़िल्म: मैं तुलसी तेरे आँगन की (1978) | Main Tulsi Tere Aagan Ki
संगीत: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल | Laxmikant Pyarelal

गीत के बोल:

लता: अपनी छब बनायके
जो मैं पी के पास गयी
आशा: अपनी छब बनायके
जो मैं पी के पास गयी
दोनों: जब छब देखी पीहू की
सो मैं अपनी भूल गयी

ओ, (छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके) -२
छाप तिलक

लता: सब छीनी रे मोसे नैना
नैना, मोसे नैना
नैना रे, मोसे नैना मिलायके
नैना मिलायके

दोनों: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे

आशा: नैना, (नैना मिलायके) -२

दोनों: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके

लता: ए री सखी
(मैं तोसे कहूँ) -२
हाय तोसे कहूँ
मैं जो गयी थी
(पनिया भरन को) -३
छीन झपट मोरी मटकी पटकी
छीन झपट मोरी झपट मोरी मटकी पटकी
नैना मिलायके

दोनों: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके

आशा: (बल-बल जाऊँ मैं) -२
(तोरे रंग रजेवा) -२
(बल-बल जाऊँ मैं) -२
(तोरे रंग रजेवा) -३
(अपनी-सी) -३
रंग लीनी रे मोसे
नैना मिलायके

दोनों: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके

आशा: ए री सखी
(मैं तोसे कहूँ) -२
हाय तोसे कहूँ

लता: (हरी हरी चूड़ियाँ) -२
(गोरी गोरी बहियाँ) -२
हरी हरी चूड़ियाँ
(गोरी गोरी बहियाँ) -३
(बहियाँ पकड़ हर लीनी) -२
रे मोसे नैना मिलायके

दोनों: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे

आशा: नैना
(नैना मिलायके) -३

दोनों: छाप तिलक सब छीनी रे मोसे नैना मिलायके

5 comments:

  1. I am so happy to visit this blog. I have heard many things about Bakshi sahab, but after many years, when I heard this song, I was really very much pleased. Let me say, Bakshi sahab was the successful in writing his very sweet songs for the Indian film industry. His share in bringing our Indian Film industry to a higher stage will be remembered for ever.... Natu solanki, Ahmedabad.

    ReplyDelete
  2. Mr. Solanki, I am happy with your comment, thanks

    ReplyDelete