गुलाबी आँखें जो तेरी देखी - द ट्रेन १९७०

Hindi Movie - The Train 1970

गीत:गुलाबी आँखें जो तेरी देखी । Gulabi aankhein jo teri dekhi
चित्रपट: द ट्रेन १९७० | The Train 1970
संगीत: राहुल देव बर्मन | R D Burman
गीतकार: आनंद बक्षी | Anand Bakshi
स्वर: मोहम्मद रफ़ी | Md. Rafi



गीत के बोल:


गुलाबी आँखें जो तेरी देखी, शराबी ये दिल हो गया
सम्भालो मुझको, ओ मेरे यारों, सम्भलना मुश्किल हो गया

दिल में मेरे, ख़्वाब तेरे, तस्वीरें जैसे हों दीवार पे
तुझपे फ़िदा, मैं क्यूँ हुआ, आता है ग़ुस्सा मुझे प्यार पे
मैं लुट गया, मान के दिल का कहा
मैं कहीं का ना रहा, क्या कहूँ मैं दिलरुबा
बुरा ये जादू तेरी आँखों का, ये मेरा क़ातिल हो गया
गुलाबी आँखें जो तेरी देखी...

मैंने सदा, चाहा यही, दामन बचा लूँ हसीनों से मैं
तेरी क़सम, ख़्वाबों में भी, बचता फिरा नाज़नीनों से मैं
तौबा मगर, मिल गई तुझसे नज़र
मिल गया दर्द-ए-जिगर, सुन ज़रा ओ बेख़बर
ज़रा सा हँसके, जो देखा तूने, मैं तेरा बिस्मिल हो गया
गुलाबी आँखें जो तेरी देखी...

No comments:

Post a Comment